Billi ke Bacche

बिल्ली एक मांसाहारी स्तनधारी जानवर है। इसकी सुनने तथा सुंघने की शक्ति प्रखर है और यह कम रोशनी, यहां तक की रात में भी देख सकती हैं। लगभग 9500 वर्षों से बिल्ली मनुष्य के साथी के रूप में है। प्राकृतिक रूप से इनका जीवनकाल लगभग 15 वर्षों का होता है। वर्तमान में इनकी जनसंख्या 60 करोड़ आंकी गई है।

{flippingbook_book 28}

बिल्‍ली की देखभाल के लिये टिप्‍स-
1. नन्‍ही बिल्ली के बच्चे को वयस्क बिल्‍ली की तुलना में दुगने पोषण की जरुरत होती है। जब यह 5-6 महीने की हो जाएं तब इन्‍हें दिन में चार बार भोजन देना शुरु कर दें।
 
2. बिल्‍ली को कभी भी कुत्‍ते का आहार ना खिलाएं। सही प्रकार का पोषण देने के लिये उसे हमेशा बिल्‍लियों वाला भी खाना खिलाएं।
 
3. 8-10 महीने के बाद उसे कभी भी केवल दूध या बिल्‍ली वाला खाना ना ही खिलाएं बल्कि घर का खाना जैसे, चावल, दूध और दही भी दें। इससे बिल्‍ली को घर के भोजन का स्‍वाद भा जाएगा।
 
4. बिल्‍ली को रोजाना नहलाने की जरुरत नहीं है। जब बिल्‍ली के तन से बदबू आने लगे तब आप उसे ठंडे पानी से नहला सकती हैं। गरम पानी बिल्‍ली के शरीर को नुकसान पहुंचा सकता है।
 
5. बिल्‍ली के बालों को रोजाना ब्रश से झाडा़ करें। इससे टूटे बाल निकल आएंगे और बैकटीरिया भी साफ हो जाएंगे।
 
6. अपनी बिल्‍ली के साथ कुछ दिनों तक बिस्‍तर में सोइये लेकिन इसको कभी भी आदत ना बनाएं। एक बार अगर उन्‍हें आपके साथ सोने की आदत हो गई तो वह आपका पीछा कभी नहीं छोडे़गी।
 
7. बाहर जाइये और अपनी बिल्‍ली के साथ खेलिये। एक्‍सारसाइज और दौड़ भाग बिल्‍ली की बढत के लिये अच्‍छा होता है। 8. अगर बिल्‍ली अपना पंजा मारे तो उसे तुरंत वहीं पर रोक दें, वरना वह चीज़ उसकी आदत में शामिल हो जाएगी।
 
9. छोटी बिल्‍लियों को दवाई की जरुरत होती है, तो ऐसे में पशु चिकित्‍सक से मिलिये और कोशिश कीजिये कि एक भी दवाई मिस ना होने पाए।
 
10. जैसे जैसे बिल्‍ली बडी़ होने लगे उसके दांत, कान और नाखूनों की देखभाल कीजिये और उन्‍हें हमेशा साफ करते रहिये। पंजों में बहुत गंदगी छुपी हुई होती है इसलिये उसकी सफाई का विषेश ध्‍यान रखें। नाखूनों को काटें और साफ रखें।